Top One

NASA दे रहा ऑफर, यदि आप है सोने के शौकीन तो कमाए 13 लाख रुपए

NASA दे रहा ऑफर, यदि आप है सोने के शौकीन तो कमाए 13 लाख रुपए - नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (:राष्ट्रीय वैमानिकी और अन्तरिक्ष प्रबंधन ) या जिसे संक्षेप में NASA कहते हैं, संयुक्त राज्य अमेरिका की सरकार की शाखा है।

 जो देश के सार्वजनिक अंतरिक्ष कार्यक्रमों व एरोनॉटिक्स व एरोस्पेस संशोधन के लिए जिम्मेदार है।

नासा का गठन नैशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस अधिनियम के अंतर्गत 19 जुलाई 1948 में इसके पूर्वाधिकारी संस्था [9] नैशनल एडवाइज़री कमैटी फॉर एरोनॉटिक्स (एनसीए) के स्थान पर किया गया था।

NASA दे रहा ऑफर ,यदि आप है सोने के शौकीन तो कमाए 13 लाख रुपए


NASA के दवार ऑफर दिया जा रहा है कि यदि आप सोने के शौकीन है तो आप भी अच्छे पैसे कमा सकते है  वो भी दो महीने में 13 लाख रुपए। आपको यहां पर बस बेड पर लेटना है।

 NASA ने यूरोपियन स्पेस एजेंसी यानि ESA से हाथ मिलाया है।  इसके तहत कृत्रिम गुरुत्व शक्ति पर सोने की क्रिया पर अध्ययन किया जाएगा।अध्ययन के माध्यम से वैज्ञानिक जानने की कोशिश करेंगे कि अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस में किस तरह से कृत्रिम गुरुत्व शक्ति की मदद मिल सकेगी ।

Also Read This :
पाकिस्तान के शहर ग्वादर में रातोरात अचानक से गायब हुआ एक द्वीप
भारत के संसद भवन में क्यों लगे हैं उल्‍टे पंखे

खबरों के अनुसार नासा को 24 लोगों की तलाशे है जिनमे 12 पुरुष और 12 महिलाये होंगी। इस जॉब के लिए आपकी आयु सीमा 24 से 55 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

 बता दें कि जब अंतरिक्ष यात्री स्पेस में होते हैं तो उन्हें कई तरह की शारीरिक संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

अंतरिक्ष के यात्रा के समय हड्डियों से लेकर दिमाग तक भी इसका काफी गहरा असर होता है  इसी को लेकर नासा ये रिसर्च करेगा ।

NASA दे रहा ऑफर ,यदि आप है सोने के शौकीन तो कमाए 13 लाख रुपए

 आपको जॉब के दौरान यहां  2 महीने के लिए बेड पर लेटे रहना है।  इस काम के लिए एजेंसी 18,500 डॉलर देगी यानि की करीब 13 लाख रुपए की सैलरी मिलेगी । ये बेड रेस्ट स्टडी जर्मनी के एयरोस्पेस सेंटर में की जाएगी।

इस अवधि के दौरान वैज्ञानिक चुने गए लोगों की विभिन्न तरीके की जांच करेंगे। इसमें मसल्स स्ट्रेंथ, बैलेंस, संज्ञानात्मक क्षमता और कार्डियोवस्कुलर एक्टिविटी की जांच शामिल होगा।

 दूसरी तरफ वैज्ञानिकों, मनोचिकित्सकों और मेडिकल प्रोफेशनल्स की टीम चयनित लोगों को सहयोग करेगी। इसमें उनके खानपान व न्यूट्रिशन की जिम्मेदारी शामिल है।

 इन लोगों को दिए जाने वाले खाने में  कोई आर्टिफिशियल स्वीटनर्स शामिल नहीं होगा। हालांकि, इन लोगों को कभी-कभी ही मिठाई खाने को दी जाएगी।

Best articles around the web and you may like
Newsexpresstv.in for that must read articles


Read More here 

NASA दे रहा ऑफर ,यदि आप है सोने के शौकीन तो कमाए 13 लाख रुपए