Top One

ऐसा गाँव जहाँ नहीं है घरों में दरवाजे

ऐसा गाँव जहाँ नहीं है घरों में दरवाजे - एक तरफ जहाँ लोग अपने घरों को चोरी-डकैती से बचाने के लिए पूरी दुनिया CCTV, Security Guards और शिकारी कुत्तों पर निर्भर है।

वहीं महाराष्ट्र के एक छोटे से गांव में आज भी लोग आस्था और विश्वास के भरोसे अपने घरों, गाडियों, कीमती सामानों को बिना किसी दरवाजे के खुला रख कहीं भी चले जाते है।

ऐसा गाँव जहाँ नहीं है घरों में दरवाजे

जिसका कारण यहाँ चोरी जैसी घटना का ना होना है।

 इस मंदिर की क्या है विशेषता


शनि शिंगणापुर में स्थित शनि देव की काले रंग की पाषाण प्रतिमा स्वयंभू मानी जाती है। इस प्रतिमा को लेकर एक कथा प्रचलित है

जिसके अनुसार यह शिला एक गड़ेरिए को मिली थी। शनिदेव ने उसे आदेश दिया कि इस प्रतिमा को किसी खुले परिसर में रखा जाए

इस पर तेल द्वारा अभिषेक किया जाए। प्रभु का ऐसा आदेश पाकर उसने इस प्रतिमा को यहां स्थापित किया तब से एक चबूतरे पर शनि देवजी का पूजन एवं तेल अभिषेक करने की परंपरा चली आ रही है।

शनि शिंगणापुर मंदिर महत्व


महाराष्ट्र के अहमदनगर में स्थित शनि शिंगणापुर धाम एक पवित्र तीर्थ स्थल है।  शिंगणापुर के इस चमत्कारी शनि मंदिर में देश-विदेश के अनेक शनि भक्त आते हैं।

ऐसा गाँव जहाँ नहीं है घरों में दरवाजे

शनिदेव की इस दुर्लभ प्रतिमा के दर्शन प्राप्त करके शनि आशीर्वाद की प्रार्थना करते हैं। मंदिर के बारे में अनेक मान्यताएं भी प्रचलित हैं।

शनिवार के दिन और प्रत्येक माह में आने वाली अमावस्या को यहां पर भक्तों का तांता लगा रहता है

भारत के कोने-कोने से श्रद्धालु यहां आकर भक्ति भाव सहित शनिदेव की पूजा अर्चना करते हैं। शनि जयंती और शनिश्चरी अमावस्या पर विशेष प्रबंध किए जाते हैं।

इस गांव में नहीं लगाए जाते कहीं ताले


शिंगणापुर गांव इस स्थान की खासियत ये है कि इस छोटे-से गांव में आज भी किसी घर में ताला या कुंडी नहीं लगाई जाती।

इसके साथ ही लोगों को अपने कीमती सामान को किसी अलमारी या तिजोरी में भी नहीं रखते।

Also Read This:
ऐसा गाँव जहाँ नहीं है घरों में दरवाजे
मनुष्य दिन की बजाए रात में क्यों सोते है

इतना ही नहीं यहां की दुकानें और व्यापारिक केंद्रों के साथ-साथ हाल में यहां “यूको बैंक” ने भी बिन दरवाजों का ब्रांच खोला हैं।

Incrafter web services call 7610032102

जो इसके तरह का पूरी दुनिया में अकेला मामला है। यह गांव छोटा ज़रूर है पर यहाँ के लोग काफी समृद्ध हैं। यहाँ अनेक घर आधुनिक तकनीक से ईंट-पत्थर तथा सीमेंट का इस्तेमाल करके बनाये गए हैं।
फिर भी इन आधुनकि घरों में कोई दरवाज़े नहीं हैं।  माना जाता है कि केवल शनि भगवान जब इस गांव के रक्षक हैं।
लोग मानते हैं की यदि कोई चोरी करता है तो वह इस गांव से बाहर भी नहीं जा पाता और उस पर शनि देव जी का कहर बरपता है।

यहां आने वाले लोग भी अपने वाहनों में ताला नहीं लगाते व बिना किसी परेशानी के अपने को सुरक्षित महसूस करते हैं।


सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें फेसबुक (facebook) और ट्विटर (twitter) पर फॉलो करें   Best articles around the web and you may like  Newsexpresstv.in for that articles

Read More Here

ऐसा गाँव जहाँ नहीं है घरों में दरवाजे